• एक सज़ायाफ्ता बौद्धिक के हक़ में एक अमेरिकी कॉलेज का प्रतिरोध

    Author(s):
    Pramod Ranjan (see profile)
    Date:
    2022
    Group(s):
    Education and Pedagogy, History, Race/Ethnicity in Classical Antiquity
    Subject(s):
    Black Panther Party, Dalits, Universities and colleges, Academic freedom--Social aspects, Freedom of speech
    Item Type:
    Article
    Tag(s):
    Dalit Panther, Vinayak damodar savarkar, freedom of expression
    Permanent URL:
    https://doi.org/10.17613/3kd0-fk46
    Abstract:
    मार्च, 2022 में एक अमेरिकी कॉलेज में 50 साल की सजा काट कर जेल से पेरोल पर छूटे ब्लैक पैंथर के सदस्य को भाषण देने के लिए बुलाया गया था। श्वेत-श्रेष्ठतावादियों ने कार्यक्रम का जोरदार विरोध किया, लेकिन कॉलेज ने कार्यक्रम रद्द करने से इंकार कर दिया। कालेज ने इस कार्यक्रम से कथित तौर अपनी भावनाएं आहत होने का आरोप लगाने वालों को मानसिक स्वास्थ केंद्र में जाने की सलाह दी। इस लेख में ब्लैक पैंथर तथा दलित पैंथर की समानताओं पर नजर डाली गई है तथा यह तलाशने की कोशिश की गई कि भारतीय उच्च अध्ययन संस्थान किन कारणों से प्रतिगामी शक्तियों का प्रतिरोध करने में सक्षम नहीं हैं।
    Notes:
    यह लेख उद्भभावना के अतिरिक्त राजद समाचार और वेबसाइट जनपथ पर भी प्रकाशित हुआ है।
    Metadata:
    Published as:
    Journal article    
    Status:
    Published
    Last Updated:
    4 months ago
    License:
    Attribution
    Share this:

    Downloads

    Item Name: pdf एक-अमेरिकी-कॉलेज-का-प्रतिरोध.-उद्भभावना.-वर्ष-37-अंक-147.pdf
      Download View in browser
    Activity: Downloads: 15